Aate Jaate Khoobsurat
आते जाते खूबसूरत आवारा सड़कों पे
कभी कभी इत्तिफ़ाक़ से
कितने अंजान लोग मिल जाते हैं
उन में से कुछ लोग भूल जाते हैं
कुछ याद रह जाते हैं
आवाज़ की दुनिया के दोस्तों
कल रात इसी जगह पे मुझको
किस क़दर ये हसीं ख़याल मिला है
राह में इक रेशमी रुमाल मिला है
जो गिराया था किसी ने जान कर
जिस का हो ले वो जाये पहचान कर
वरना मैं रख लूँगा उस को अपना जान कर
किसी हुस्न-वाले की निशानी मान कर, निशानी मान कर
हँसते गाते लोगों की बातें ही बातें में
कभी कभी इक मज़ाक से कितने जवान किस्से बन जाते हैं
उन किस्सों में चन्द भूल जाते हैं
चन्द याद रह जाते हैं
उन में से कुछ लोग ...
तक़दीर मुझ पे मेहरबान है
जिस शोख की ये दास्तान है
उस ने भी शायद ये पैग़ाम सुना हो
मेरे गीतों में अपना नाम सुना हो
दूर बैठी ये राज़ वो जान ले
मेरी आवाज़ को पहचान ले
काश फिर कल रात जैसी बरसात हो
और मेरी उस की कहीं मुलाक़ात हो
लम्बी लम्बी रातों में नींद नहीं जब आती
कभी कभी इस फ़िराक़ से कितने हसीं ख़्वाब बन जाते हैं
उन में से कुछ ख़्वाब भूल जाते हैं
कुछ याद रह जाते हैं
उन में से कुछ लोग ...
Aate jaate khoobsurat awara sadkon pe
Kabhie kabhie इत्तिफ़ाक़ se
Kitne anjaan log mil jaate hain
Un mein se kuchh log bhool jaate hain
Kuchh yaadon rah jaate hain
Aawaaz ki duniya ke doston
Kali raaton isi jagah pe mujhko
Kis kadar yeh haseen khayaal mila hai
Raahein mein ik reshmi rumaal mila hai
Jo giraya tha kisi ne jaane kar
Jis ka ho le voh jaaye pehchaan kar
Varna main rakh loonga us ko apna jaane kar
Kisi husn-vaale ki nishani maan kar, nishani maan kar
Hanste gaate logon ki baatein hee baatein mein
Kabhie kabhie ik mazaak se kitne jawaan kisse ban jaate hain
Un kisson mein chand bhool jaate hain
Chand yaadon rah jaate hain
Un mein se kuchh log ...
Taqdir mujh pe meharbaan hai
Jis shokh ki yeh dastaan hai
Us ne bhi shayad yeh paigam suna ho
Mere geeton mein apna naam suna ho
Door baithi yeh raaz voh jaane le
Meri aawaaz ko pehchaan le
Kaash phir kali raaton jaisi barsaat ho
Aur meri us ki kaheen mulakat ho
Lambi lambi raaton mein neend naheen jab aati
Kabhie kabhie is firaak se kitne haseen khwaab ban jaate hain
Un mein se kuchh khwaab bhool jaate hain
Kuchh yaadon rah jaate hain
Un mein se kuchh log ...