Kaise Kahein Hum
                     
कैसे कहें हम, प्यार ने हमको, क्या क्या खेल दिखाये 
यूँ शरमाई, किस्मत हमसे, खुद से हम शरमाए 
बागों को तो पतझड़ लूटे, लूटा हमें बहार ने 
दुनिया मरती मौत से लेकिन, मारा हमको प्यार ने 
अपना वो हाल हैं बीच सफ़र में जैसे कोई लुट जाये 
कैसे कहें हम प्यार ने हमको क्या क्या खेल दिखाये 
तुम क्या जानो, (laughs)
तुम क्या जानो, क्या चाहा था क्या लेकर आये हम 
टूटे सपने घायल नगमे कुछ शोले कुछ शबनम 
इतना कुछ है पाया हमने कहो तो कहा न जाये
कैसे कहें हम प्यार ने हमको क्या क्या खेल दिखाये 
ऐसे बाजी शहनाई घर में, अब तक सो ना सके हम 
अपनों ने हमको इतना सताया, रोये तो रो ना सके हम 
अब तो करो कुछ ऐसा यारों होश ना हमको आये
कैसे कहें हम प्यार ने हमको क्या क्या खेल दिखाये 
यूँ शरमाई किस्मत हमसे खुद से हम 



                     
Kaise kahein hum, pyar ne humko, kya kya khel dikhaye 
Yoon sharmayi, kismat humse, khud se hum sharmaye 
Baagon ko to patjhad loote, loota humein bahaar ne 
Duniya marti maut se lekin, maaraa humko pyar ne 
Apna voh haal hain beech safar mein jaise koi lut jaaye 
Kaise kahein hum pyar ne humko kya kya khel dikhaye 
Tum kya jaano, (laughs)
Tum kya jaano, kya chaha tha kya lekar aaye hum 
Toote sapne ghayal nagme kuchh shole kuchh shabnam 
Itna kuchh hai paya humne kaho to kaha na jaaye
Kaise kahein hum pyar ne humko kya kya khel dikhaye 
Aise baazi shehnayi ghar mein, ab tak so naa sake hum 
Apno ne humko itna sataya, roye to ro naa sake hum 
Ab to karo kuchh aisa yaaron hosh naa humko aaye
Kaise kahein hum pyar ne humko kya kya khel dikhaye 
Yoon sharmayi kismat humse khud se hum