Teri Duniya Se
तेरी दुनिया से हो के मजबूर चला
मैं बहुत दूर, बहुत दूर, बहुत दूर चला
तेरी दुनिया से   ...
इस क़दर दूर हूँ मैं लौट के भी आ न सकूँ
ऐसी मंज़िल कि जहाँ खुद को भी मैं पा न सकूँ
और मजबूरी है क्या, इतना भी बतला न सकूँ
तेरी दुनिया से   ...
आँख भर आयी अगर, अश्क़ों को मैं पी लूँगा
आह निकली जो कभी, होंठों को मैं सी लूँगा
तुझसे वादा है किया, इस लिये मैं जी लूँगा
तेरी दुनिया से   ...
खुश रहे तू है जहाँ ले जा दुआयें मेरी
तेरी राहों से जुदा हो गयी राहें मेरी
कुछ नहीं पास मेरे, बस हैं खताएं मेरी
तेरी दुनिया से ...
Teri duniya se ho ke majboor chala
Main bahut door, bahut door, bahut door chala
Teri duniya se   ...
Is kadar door hoon main laut ke bhi aa na sakoon
Aisi manzil ki jahaan khud ko bhi main pa na sakoon
Aur majboori hai kya, itna bhi batla na sakoon
Teri duniya se   ...
Aankh bhar aayi agar, askhon ko main pi loonga
Aah nikli jo kabhie, hothon ko main si loonga
Tujhse vaada hai kiya, is liye main ji loonga
Teri duniya se   ...
Khush rahe tu hai jahaan le jaa duaayein meri
Teri raahon se juda ho gayi raahein meri
Kuchh naheen paas mere, bas hain khataayein meri
Teri duniya se ...