Thandi Hawa Yeh Chandni Suhani
ठण्डी हवा ये चाँदनी सुहानी 
ऐ मेरे दिल सुना कोई कहानी 
लम्बी सी एक डगर है ज़िंदगानी 
ऐ मेरे दिल सुना कोई कहानी 
सारे हसीं नज़ारे, सपनों में खो गये 
सर रख के आसमाँ पे, पर्वत भी सो गये 
मेरे दिल, तू सुना, कोई ऐसी दास्तां 
जिसको, सुनकर, मिले चैन मुझे मेरी जाँ
मंज़िल है अन्जानी ...
ऐसे मैं चल रहा हूँ पेड़ों की छाँव में
जैसे कोई सितारा बादल के गाँव में
मेरे दिल, तू सुना, कोई ऐसी दास्तां 
जिसको सुनकर, मिले चैन मुझे मेरी जाँ
मंज़िल है अन्जानी ...
थोड़ी सी रात बीती, थोड़ी सी राह गई
खामोश रुत ना जाने, क्या बात कह गई 
मेरे दिल, तू सुना, कोई ऐसी दास्तां 
जिसको सुनकर, मिले चैन मुझे मेरी जाँ
मंज़िल है अन्जानी
ठण्डी हवा ये चाँदनी सुहानी 
ऐ मेरे दिल सुना कोई कहानी 
लम्बी सी एक डगर है ज़िंदगानी 
ऐ मेरे दिल सुना कोई कहानी
Thandi hawa yeh chandni suhani 
Ae mere dil suna koi kahani 
Lambi si ek dagar hai zindagani 
Ae mere dil suna koi kahani 
Saare haseen nazare, sapno mein kho gaye 
Sar rakh ke asmaan pe, parvat bhi so gaye 
Mere dil, tu suna, koi aisi dastaan 
Jisko, sunkar, mile chain mujhe meri jaan
Manzil hai anjani ...
Aise main chal rahaa hoon pedon ki chaanv mein
Jaise koi sitaara baadal ke gaaon mein
Mere dil, tu suna, koi aisi dastaan 
Jisko sunkar, mile chain mujhe meri jaan
Manzil hai anjani ...
Thodi si raaton beeti, thodi si raahein gayi
Khamosh rut naa jaane, kya baat kah gayi 
Mere dil, tu suna, koi aisi dastaan 
Jisko sunkar, mile chain mujhe meri jaan
Manzil hai anjani
Thandi hawa yeh chandni suhani 
Ae mere dil suna koi kahani 
Lambi si ek dagar hai zindagani 
Ae mere dil suna koi kahani