Yeh Laal Rang
ये लाल रंग कब मुझे छोड़ेगा 
मेरा ग़म, कब तलक़, मेरा दिल तोड़ेगा 
ये लाल रँग ...
किसी का भी लिया नाम तो, आई याद, तू ही तू 
ये तो प्याला शराब का, बन गया, ये लहू
ये लाल रँग ...
पीने कि क़सम डाल दी, पियूँगा किस तरह 
ये ना सोचा तूने यार मैं, जियूँगा किस तरह 
ये लाल रँग ... 
चला जाऊँ कहीं छोड़ कर, मैं तेरा ये शहर 
यहाँ तो ना अमृत मिले, पीने को, ना ज़हर
हाय, ये लाल रँग ...
Yeh laal rang kab mujhe chhodega 
Mera gham, kab talaq, mera dil todega 
Yeh laal rang ...
Kisi ka bhi liya naam to, aaee yaadon, tu hee tu 
Yeh to pyala sharaab ka, ban gaya, yeh lahoo
Yeh laal rang ...
Peene ki kasam daal dee, piyunga kis tarah 
Yeh naa socha tune yaar main, jiyunga kis tarah 
Yeh laal rang ... 
Chala jaun kaheen chhod kar, main tera yeh shahar 
Yahaan to naa amrit mile, peene ko, naa zaher
Hai, yeh laal rang ...